How much will you pay to watch “Loveship” online ?

Lenovo Phab 2 (Gunmetal Gray, 32 GB)  (3 GB RAM)

 

 

Specifications
General
Sales Package
Handset, Travel Adapter, USB Cable, Earphone, Warranty Card, Quick Start Guide, SIM Tray Pin
Model Number PB2-650M
Model Name Phab 2
Color Gunmetal Gray
Browse Type Smartphones
SIM Type Dual Sim
Hybrid Sim Slot Yes
Touchscreen Yes
OTG Compatible Yes
Additional Content 3GB RAM
Display Features
Display Size 6.4 inch Resolution
1280 x 720 Pixels

 

Buddha’ Provebs in Hindi 

​बुध्द पौर्णिमा स्पेशल :
*• गौतम बुद्ध के सुविचार •*

…. जो गुजर गया उसके बारे में मत सोचो और भविष्य के सपने मत देखो केवल वर्तमान पे ध्यान केंद्रित करो ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. आप पूरे ब्रह्माण्ड में कहीं भी ऐसे व्यक्ति को खोज लें जो आपको आपसे ज्यादा प्यार करता हो, आप पाएंगे कि जितना प्यार आप खुद से कर सकते हैं उतना कोई आपसे नहीं कर सकता।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है, संतोष सबसे बड़ा धन और विश्वास सबसे अच्छा संबंध।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. हमें हमारे अलावा कोई और नहीं बचा सकता, हमें अपने रास्ते पे खुद चलना है।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. तीन चीज़ें ज्यादा देर तक नहीं छुपी रह सकतीं – सूर्य, चन्द्रमा और सत्य

                  *– गौतम बुद्ध*
…. आपका मन ही सब कुछ है, आप जैसा सोचेंगे वैसा बन जायेंगे ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. अपने शरीर को स्वस्थ रखना भी एक कर्तव्य है, अन्यथा आप अपनी मन और सोच को अच्छा और साफ़ नहीं रख पाएंगे ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. हम अपनी सोच से ही निर्मित होते हैं, जैसा सोचते हैं वैसे ही बन जाते हैं। जब मन शुद्ध होता है तो खुशियाँ परछाई की तरह आपके साथ चलती हैं ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. किसी परिवार को खुश, सुखी और स्वस्थ रखने के लिए सबसे जरुरी है अनुशासन और मन पर नियंत्रण अगर कोई व्यक्ति अपने मन पर नियंत्रण कर ले तो उसे आत्मज्ञान का रास्ता मिल जाता है ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. क्रोध करना एक गर्म कोयले को दूसरे पे फैंकने के समान है जो पहले आपका ही हाथ जलाएगा ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. जिस तरह एक मोमबत्ती की लौ से हजारों मोमबत्तियों को जलाया जा सकता है फिर भी उसकी रौशनी कम नहीं होती उसी तरह एक दूसरे से खुशियाँ बांटने से कभी खुशियाँ कम नहीं होतीं ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. इंसान के अंदर ही शांति का वास होता है, उसे बाहर ना तलाशें ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. आपको क्रोधित होने के लिए दंड नहीं दिया जायेगा, बल्कि आपका क्रोध खुद आपको दंड देगा ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. हजारों लड़ाइयाँ जितने से बेहतर है कि आप खुद को जीत लें, फिर वो जीत आपकी होगी जिसे कोई आपसे नहीं छीन सकता ना कोई स्वर्गदूत और ना कोई राक्षस ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. जिस तरह एक मोमबत्ती बिना आग के खुद नहीं जल सकती उसी तरह एक इंसान बिना आध्यात्मिक जीवन के जीवित नहीं रह सकता ।

                 *– गौतम बुद्ध*
…. निष्क्रिय होना मृत्यु का एक छोटा रास्ता है, मेहनती होना अच्छे जीवन का रास्ता है, मूर्ख लोग निष्क्रिय होते हैं और बुद्धिमान लोग मेहनती ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. हम जो बोलते हैं अपने शब्दों को देखभाल के चुनना चाहिए कि सुनने वाले पे उसका क्या प्रभाव पड़ेगा,

अच्छा या बुरा ।

                 *– गौतम बुद्ध*
…. आपको जो कुछ मिला है उस पर घमंड ना करो और ना ही दूसरों से ईर्ष्या करो, घमंड और ईर्ष्या करनेवाले लोगों को कभी मन की शांति नहीं मिलती ।

                  *– गौतम बुद्ध*
…. अपनी स्वयं की क्षमता से काम करो, दूसरों निर्भर मत रहो ।

                *– गौतम बुद्ध*
….. असल जीवन की सबसे बड़ी विफलता है हमारा असत्यवादी होना ।

                *– गौतम बुद्ध*

Loveship is an art Film 

​Loveship is a pure art film.. Not a regular commercial film. People are expecting high amount entertainment from this film, that’s the point where they go wrong. Andit has to be Watched in cinema hall or with good sound system. I had got mixed Reviews because people expected more fr film. I do admit at some point film looks boring because of slow speed or scenes without music. But my work was to make it look convincing. That is were may be I went wrong, because I was too much into story. Movie is like a novel reading not a fun, entertainment film. So if u get a chance to watch this film, you should know something about the film before u watch it. Its genre and Subject.

Something I don’t regret of film being called slow, it’s was a need to explain the back story of main character.

– Sumit Ranaware 

Writer n Director of “Loveship” 

About my Film

​Honestly speaking.

Loveship will look like a film made 10 years ago, down to earth n simple, I only focused on story telling. Excitement points are very less in film. Only watch film for good writing. Writing or crafting story is only important thing to see in film. Otherwise film doesn’t not offers anything new. I usually don’t make this kind of film. I sometimes regret calling it my film. It doesn’t hv my voice. I just completed the film to add stars to my biodata, that’s it.
This is absolutely not my kinda film.

Lisa’s Story

​🐴Lisa bought a donkey from a farmer for £100. The farmer agreed to deliver the donkey the next day.
In the morning he drove up and said, ‘Sorry , but I have some bad news. The donkey’s died.’
Lisa replied, ‘Well just give me my money back then.’
The farmer said, ‘Can’t do that. I’ve already spent it.’
Lisa said, ‘OK then, just bring me the dead donkey.’
The farmer asked, ‘What are you going to do with him?’

Lisa said, ‘I’m going to raffle him off.’
The farmer said, ‘You can’t raffle a dead donkey!’
Lisa said, ‘Sure I can. Watch me. I just won’t tell anybody he’s dead.’
A month later, the farmer met up with Lisa and asked, ‘What happened with that dead donkey?’
Lisa said, ‘I raffled him off. I sold 500 tickets at £2 each and made a profit of £898.’
The farmer said, ‘Didn’t anyone complain?’
Lisa said, ‘Just the guy who won. So I gave him his £2 back.’
🐒Lisa works for Reliance Jio now

​बायको बरोबर भांडणाचे फायदे

1. झोप आरामदायक होते :

” ऐकताय ना? , लाइट बंद करा, पंखा चालू करा, इकड तोंड करा ” टाइप सारख्या गोष्टी बंद.
2. पैशांची बचत होते :

जो पर्यंत बायकोशी भांडणं होत राहतात त्या काळात बायको आपल्याकडे पैसे मागत नाही.
3. तणावापासून  मुक्ती :

भांडणा दरम्यान बोलचाल बंद राहते ज्यामुळे कचकच कमी होते व आपण तणाव मुक्त राहतो .
4. आत्मनिर्भरता येते :

भांडणानंतर स्वताहून छोटी मोठी काम केल्याने (जसं स्वत: पाणी घेणं, आपल्यासाठी स्वत: चहा बनवणं ,) आत्मनिर्भर होतो.
5.कामात व्यत्यय न येणं :

भांडणानंतर ऑफिसमध्ये आपल्याला बायकोचे  फालतू कॉल येत नाही , ज्यामुळे आपलं ध्यान केंद्रित राहतं. 
6. घरी लवकर न यायची चिंता मुक्ती :

एकदा का भांडण झालं की आपण काही दिवसांसाठी घरी लवकर यायची चिंता मिटते.
7. आपलं महत्व वाढते :

भांडणानंतर आपण बायकोला सहज उपलब्ध  होत नसल्यामुळे तिला आपल्या असण्याची किंमत कळते. 
8. प्रेम वाढतं:

आपसात भांडणं झालं की प्रेम वाढतंच. 
मग काय विचार करताय एवढा….
आज होउनच जाऊ द्या  😎